दाल रोटी चावल सदियों से नारी ने इसे पका पका कर राज्य किया हैं , दिलो पर , घरो पर। आज नारी बहुत आगे जा रही हैं सब विधाओं मे पर इसका मतलब ये नहीं हैं कि वो अपना राज पाट त्याग कर कुछ हासिल करना चाहती हैं। रसोई की मिलकियत पर से हम अपना हक़ तो नहीं छोडेगे पर इस राज पाट का कुछ हिस्सा पुरुषो ने होटल और कुछ घरो मे भी ले लिया हैं।

हम जहाँ जहाँ ये वहाँ वहाँ

Thursday, September 4, 2008

आलू एग्ग फ्राई

आलू ४ बड़े छिल कर काट ले । काटने के लिये पहले सीधा आधा करे और फिर एक एक की चार चार टुकडे कर ले
टमाटर २ बडे , जैसे आलू काटा हैं वैसे ही टमाटर भी काट ले पर बिना छिले ।
प्याज २ बडे छिल कर काट ले जैसे आलू काटा हैं ।
हरीमिर्च ४ बड़ी लम्बी लम्बी कटी हुई ।
सब्जी अगर सम एक सी कटी हो तो उसका परोसते समय "लुक" बहुत अच्छा लगता हैं और "प्रोफेशनल कुकिंग " का "लुक " भी देता हैं ।
हल्दी एक छोटी चम्मच
पिसा धनिया ४ चोटी चम्मच
कुटी { पीसी नहीं } लाल मिर्च १/२ छोटी चम्मच { या स्वाद अनुसार }
नमक स्वाद अनुसार
ताज़ी मलाई ३ छोटे चम्मच
अंडे २ या अपनी जरुरत और खाना खाने वालो की संख्या के हिसाब से
धारा ४ बडे चम्मच
हरा धनिया या पुदीना या दोनों बारीक कटा हुआ अंदाज से बुरकने के लिये

कुकर गरम करे और उसमे धारा डाले । धारा गरम हो जाए तो उसमे प्याज डाले । प्याज दाल कर तुंरत आलू और हरी मिर्च डाले । २-३ मिनट इसको धारा मे फ्राई करे और जैसे ही प्याज का रंग गोल्डन हो जाए टमाटर डाल दे । दो मिनट तक टमाटर को नरम होने दे और फिर इस मे नमक , मिर्च , धनिया और हल्दी डाले । अब इसमे मलाई डाले । मासले डालने के बाद इसको चलाए और ४ चम्मच पानी डाले । दो मिनट बाद इसमे इतना बस पानी डाले की सब सब्जी पानी के अंदर हो जाए । कुकर मे प्रेशर लगा कर २ सीटी दे या आप जिस विधि से पकाते हो उतने समय पकाए जिसमे आलू गल जाए ।
तुंरत स्टीम निकाले और एक नॉन स्टिक कढाई को गरम करके सब्जी को उसमे डाले । अब जैसे ही इसमे बुलबुले उठने लगे इसमे अंडे तोड़ कर डाले जैसे आप एग्ग फ्राई बनाते हैं । गैस बिल्कुल धीमी रखे और कढाई का ढक्कन बंद कर दे । ३-४ मिनट बाद ढक्कन खोले और कटा हुआ धनिया या पुदीना डाले और परसे ।

9 comments:

anitakumar said...

vaah zaroor try karenge

mamta said...

हम्म !
जायकेदार लग रही है।

Mrs. Asha Joglekar said...

Bahot badhiya lage padh kar hi par banayenge t ohum bina andon ke.

Udan Tashtari said...

आभार!!

sab kuch hanny- hanny said...

aaj phali baar aapke blog par aai. maza aa gaya. baad me or baaten hongi. mein v aapko dish banana bataungi. naam sunkar jitna achchha laga tha padhne ke baad usse kai guna jyada achchha laga


thank u

Abhishek said...

इस ब्लॉग का तो मैं फैन हो गया हूँ॥ आपकी देखा-देखी ख़ुद भी कुछ कुछ एक्सपेरिमेंट करने शुरू कर दिए हैं :)
कभी कुछ खाने लायक बन जाता है। कभी कोई रेसिपी आपको भेजनी हो तो क्या कर सकते हैं?

रचना said...

@abhishek
aap apna email id yaa to yahaan dae dae yaa freelancetextiledesigner@gmail.com per bhej dae aap ko blog ka invite bhej diyaa jaayega phit khub likhey seekhey seekhyaa aur pakaaye
aap ko blog achchaa lagaa is kae liyae thanks

Abhishek said...

बहुत धन्यवाद रचना जी. मेरा ईमेल है : iabhishek@gmail.com.

रचना said...

aap ko blog ka invite bhej diya haen join karey aur recipe bheje
is blog kee koi receipe banaaye ho to jarur bataaye kaesi bani apney anubav bhi receipe kae saath post karey