दाल रोटी चावल सदियों से नारी ने इसे पका पका कर राज्य किया हैं , दिलो पर , घरो पर। आज नारी बहुत आगे जा रही हैं सब विधाओं मे पर इसका मतलब ये नहीं हैं कि वो अपना राज पाट त्याग कर कुछ हासिल करना चाहती हैं। रसोई की मिलकियत पर से हम अपना हक़ तो नहीं छोडेगे पर इस राज पाट का कुछ हिस्सा पुरुषो ने होटल और कुछ घरो मे भी ले लिया हैं।

हम जहाँ जहाँ ये वहाँ वहाँ

Saturday, August 9, 2008

गुजराती खांडवी की रेसिपी

http://www.nestle.in/nestle_kitchen/indian-snack-recipes-khandvi.aspx

ये एक बहुत ही मुश्किल बानगी की सरल रेसेपी लगी है मुझे

इसलिए , यहाँ लिंक दे रही हूँ -

आप भी आजमा कर देखियेगा -

गुजरती खांडवी की रेसिपी है ये - इसे पाटौडी भी कहते हैं -

कढी का गाढ़ा स्वरूप ही है ये और अन्य , बेसन के आटे की बानगी की तरह स्वादिष्ट भी है!

4 comments:

Udan Tashtari said...

देख आये लिंक पर. आभार.

anitakumar said...

हां सच में बहुत आसान लग रही है, आभार

radhika budhkar said...

Are yah blog to bahut achcha hain maine aaj dekha.khandavi ki resipi batane ke liye thanks

Mrs. Asha Joglekar said...

badhiya recipe maine banakar bhi dekhi hai .Many thanks. We call this surali chya wadya in marahi.