दाल रोटी चावल सदियों से नारी ने इसे पका पका कर राज्य किया हैं , दिलो पर , घरो पर। आज नारी बहुत आगे जा रही हैं सब विधाओं मे पर इसका मतलब ये नहीं हैं कि वो अपना राज पाट त्याग कर कुछ हासिल करना चाहती हैं। रसोई की मिलकियत पर से हम अपना हक़ तो नहीं छोडेगे पर इस राज पाट का कुछ हिस्सा पुरुषो ने होटल और कुछ घरो मे भी ले लिया हैं।

हम जहाँ जहाँ ये वहाँ वहाँ

Friday, August 8, 2008

आटा एक और व्यंजन पाँच

मैदा आधा किलो
चीनी पीसी एक छोटी चम्मच
नमक दो चुटकी
बैकिंग पाउडर एक छोटी चम्मच
खाने वाला सोडा दो चुटकी
दही दो छोटी चम्मच
ड्राई ईस्ट एक चम्मच
घी या धारा 2 बड़ी चम्मच
गरम पानी
मैदा , चीनी , नमक , बैकिंग पाउडर , खाने वाला सोडा , सबको आता छानने वाली छन्नी से एक साथ एक परात मे छान ले । एक बर्तन मे आधा कप पानी खौला ले और उसमे ड्राई ईस्ट डाल कर घोल बनाले । अब छाने हुए आटे मे ये ईस्ट का घोल , दही और घी या धारा डाल कर , गरम पानी से आटा गुंध ले । आटा सख्त गुंधे । एक बर्तन मे ये गुंधा हुआ आटा गोला बनाकर रखदे और ऊपर से घी या धारा का हाथ लगा दे और इस आटे पर हल्का सा पानी का छीटा दे दे , बहुत हल्का । फिर इस आटे को एक कपडे से ढँक कर रख दे और लगभग ६ घंटे अगर गर्मी का मौसम हो तो और १२ घंटे अगर सर्दी का मौसम हो तो , इसको फूलने दे ।
इस के बाद इस आटे को दुबारा गुंधे बिना पानी लगाए । इस बार गूंधते समय खूब ताकत लगाये , इसको मुक्का मार मार कर गूंधना पड़ता हैं ।
एक बार ये आटा तैयार हो जाए तो आप इसी आटे से
लच्छा पराठा
भटूरा
कुलचा
नॉन
और तंदूरी रोटी
सब बना सकते हैं । कई बार जब एक ही समय मे भोजन मे विविधता , अलग अलग लोगो की पसंद से देनी होती हैं तो ये आटा बहुत उपयोगी सिद्ध होता हैं ।
कुछ लोगो को बेलने मे असुविधा होती हैं इस खमण वाले आटे को , उन सबको इस को दुबारा गूंधने के बाद १५ मिनट के लिये इसे फ्रीज मे रख देना चाहीये , बेलना बहुत आसन हो जायेगा । प्लीज़ फ्रीज़र मे मत रख दे ।
आशा है इस प्रकार से आप की डाइनिंग टेबल पर विविधता बढ़ जायेगी । बनाए जरुर ।

10 comments:

मीनाक्षी said...

बहुत खूब.... इसी आटे को शायद पिज़ा के बेस के रूप मे भी प्रयोग कर सकते है....बनाने के बाद ज़रूर बताएँगे...

anitakumar said...

waah sunday ka masala mil gayaa aaj toh , perfect timing

रंजना [रंजू भाटिया] said...

वाह यह तो गुड आइडिया है जी ...शुक्रिया ..इस ४ इन वन का ..:)

महामंत्री-तस्लीम said...

बहुत अच्छी रेसिपी है। ट्राई करने की कोशिश करूंगा।

बालकिशन said...

बहुत अच्छी रेसिपी लग रही है। ट्राई करने की कोशिश करूंगा।

Mrs. Asha Joglekar said...

Many thanks for this 4 in one base ata.

Lavanyam - Antarman said...

Veru good suggestive recipe -
thank you Rachna ji

singhsdm said...

Good Idea for instant making of food. I ll try to prepare it soon.......but no guarantee of taste

राजन said...

बहुत बढिया.यहाँ मैं आपकी कुछ मदद तो नहीं कर पाऊँगा लेकिन टेस्ट करने कभी कभी आ जाया करुँगा.अच्छा प्रयास हैं इसे जारी रखिये.

प्रतुल वशिष्ठ said...

न जाने क्यों खाना बनाना और खिलाना पत्नी का शौक हो गया है... जिसका मैं और घर के सदस्य लाभ उठा रहे हैं. शायद इसे नारी होने की विवशता कहें कि उसे अन्नपूर्णा की उपाधि लेनी पड़ी है.
हमें तो अब तक खाकर सराहना करना ही आया है.... आपकी पोस्ट को पत्नी ने पढने की हामी भर दी है. आज से आपकी भक्ष्य पोस्टों को पढने की दारोमदारी उनकी हुई.