दाल रोटी चावल सदियों से नारी ने इसे पका पका कर राज्य किया हैं , दिलो पर , घरो पर। आज नारी बहुत आगे जा रही हैं सब विधाओं मे पर इसका मतलब ये नहीं हैं कि वो अपना राज पाट त्याग कर कुछ हासिल करना चाहती हैं। रसोई की मिलकियत पर से हम अपना हक़ तो नहीं छोडेगे पर इस राज पाट का कुछ हिस्सा पुरुषो ने होटल और कुछ घरो मे भी ले लिया हैं।

हम जहाँ जहाँ ये वहाँ वहाँ

Wednesday, January 21, 2009

मटर की खीर

२ कप मटर
दुध १ लिटर
चीनी १ १/२ कप (या फिर स्वाद के अनुसार)
ईलायची पाउडर १/२ चम्मच
घी या सादा मक्खन २ चम्मच
सजाने के लिये
मन पसन्द मेवे
  1. मटर उबाल लें, और उसको क्रश कर लें।
  2. कडा़ही मे घी गरम करें। और क्रश्ड मटर को २-३ मिनट हल्की आँच पर भून लें।
  3. अब दुध मिलायें और गाढ़ा होने तक पकायें।
  4. फिर चीनी मिलाकर थोड़ा सा और पकायें।
  5. गैस बन्द करें। अब ईलायची पाउडर मिलायें।
  6. मेवो से सजायें। और गरम या ठंडा खायें। दोनो के स्वाद के अन्तर को भी महसुस करें।
बड़े भईया से यह रेसिपी शेयर कर रही थी तो उन्होने कहा कि, फिर तो इसका खोआ/मावा डालकर हलवा भी अच्छा लगेगा। वैसे मैने अभी तक नही बनाया है हलवा, आप चाहें तो उसे भी ट्राई करें।
--
Dr. Garima Tiwari (B.A.S.M)
Gold medal in Reiki
Specialized in P.K.M (Power key meditation), Face Reading, Aura Reading, Aura healing, Medtational Healing.
Functional Area-
Treatment- mental problems, memory power, respiratory problems, nerve disorder, heart problem, skin problem.
Healing- Environment, Relationship, Infant.
Boosting- Career opportunities, Luck. Wealth.
http://oorjita.blogspot.com (still in progress)

1 comment:

विनय said...

bhoj kee vidhi wah! zaroor banayenge


---आपका हार्दिक स्वागत है
चाँद, बादल और शाम