दाल रोटी चावल सदियों से नारी ने इसे पका पका कर राज्य किया हैं , दिलो पर , घरो पर। आज नारी बहुत आगे जा रही हैं सब विधाओं मे पर इसका मतलब ये नहीं हैं कि वो अपना राज पाट त्याग कर कुछ हासिल करना चाहती हैं। रसोई की मिलकियत पर से हम अपना हक़ तो नहीं छोडेगे पर इस राज पाट का कुछ हिस्सा पुरुषो ने होटल और कुछ घरो मे भी ले लिया हैं।

हम जहाँ जहाँ ये वहाँ वहाँ

Wednesday, January 6, 2010

रोटी का अंडा पराठा

कितनी बार रात की रोटियां बच जाती हैं 4-5 हो तो हम रोटी का चूरा बना लेते हैं उसमें गुड घी डाल कर लड्डू बना लेते हैं या फिर प्याज हरी मिर्च का तडका लगा कर उपमा । पर मान लो दो ही रोटी बची हों तो ? आइये आज अंडा पराठा बनाकर खिलायें नाश्ते में अगर ज्यादा लोगों को खिलाना है तो ज्यादा रोटियां लगेंगी । इसमे तो एक ही पराठा बनेगा ।
सामग्री
1 अंडा
2 रोटी
नमक मिर्च स्वादानुसार
हरा धनिया कटा हुआ 1 चम्मच
तेल 2 चाय के चम्मच
अंडे को तोडकर फेंट लीजिये उसमें नमक मिर्च धनिया मिला लीजिये । गैस चालू करके एक फ्राय पैन गैस पर रखिये और ऱोटी को पैन में डालिये उसपर फिंटा अंडा डालें और दूसरी रोटी से ढक दें अब बेलन के डंडी से किनारे गोल गोल घुमाकर दबा दें एक चम्मच तेल डाल कर करारा होने दें फिर दूसरी तरफ से भी तेल डाल कर सेंक लें । सॉस या चटनी के साथ सर्व करें और बतायें कि कैसा लगा ।

9 comments:

रचना said...

kyaa baat haen mazaa agaya padhane sae hi

Abhishek said...

मुझे ऐसी चीज़ें बहुत अच्छी लगती हैं, बनाने में मेहनत कम और खाने में इनोवेशन!
बहुत धन्यवाद!

पी.सी.गोदियाल said...

बहुत बढ़िया नुख्सा ! खासकर संडे और अन्य होली डे सुबह के लिए जब बीबी नाश्ता बनाने के मूड में बिलकुल नहीं होती !

निर्मला कपिला said...

वाह आहाजी मज़ा आ गया आज ही बनाती हूँ। धन्यवाद बहुत दिन बाद आने के लिये क्षमा चाहती हू। नये साल की शुभकामनायें

अजय कुमार said...

स्वादपूर्ण जानकारी , धन्यवाद

धान के देश में said...

बहुत बढिया जानकारी है। आज ही मैं इस नुख्‍से को अपनाउंगा।

प्रभाकर पाण्डेय said...

इस ब्लाग के वजह से मैं बहुत ही फेमस हो गया हूँ...खासकर...गृहिणियों के बीच। सब लोग मेरी बाहबाही कर रहें हैं पर मैं उनको कैसे समझाऊँ की इस ब्लाग में अभी तक मेरा कंट्रूव्यूसन कुछ नहीं है जबकि इस ब्लाग से मुझे ही फायदा हो रहा है। आजतक मैंने एक भी पोस्त नहीं लिखी।
खैर पोस्त भले न लिखुँ पर यहाँ आई सुमधुर पोस्तों को खुद पढ़ता हूँ और अपने लोगों को पढ़वाता हूँ...सभी लोग चटकारे ले लेकर वाह वाह कह उठते हैं। बहुत बहुत धन्यवाद आप सभी पोस्टकर्ताओं का। सादर आभार।।

Dr. O.P.Verma said...

दोस्तों

माइक्रोवेव पर मैंने एक लेख लिखा है। इस लेख को इस ब्लॉग पर भी होना चाहिये।
http://flaxindia.blogspot.in/2011/12/microwave-boon-or-blight.html
डॉ. ओम वर्मा

Dr. O.P.Verma said...

दोस्तों

माइक्रोवेव पर मैंने एक लेख लिखा है। इस लेख को इस ब्लॉग पर भी होना चाहिये।
http://flaxindia.blogspot.in/2011/12/microwave-boon-or-blight.html
डॉ. ओम वर्मा