दाल रोटी चावल सदियों से नारी ने इसे पका पका कर राज्य किया हैं , दिलो पर , घरो पर। आज नारी बहुत आगे जा रही हैं सब विधाओं मे पर इसका मतलब ये नहीं हैं कि वो अपना राज पाट त्याग कर कुछ हासिल करना चाहती हैं। रसोई की मिलकियत पर से हम अपना हक़ तो नहीं छोडेगे पर इस राज पाट का कुछ हिस्सा पुरुषो ने होटल और कुछ घरो मे भी ले लिया हैं।

हम जहाँ जहाँ ये वहाँ वहाँ

Monday, December 13, 2010

अंडे का एक नया स्टार्टर

अंडा एक बड़ी अनोखी चीज़ है। जैसे टमाटर को फल और सब्जी दोनों में गिनते हैं वैसे ही शाकाहारी और मांसाहारी दोनों ही अंडे को अपने राज्य का हिस्सा मानते हैं। मैं भी 'एगिटेरियन' हूँ यानी शाकाहारी + अंडाहारी!

अंडे की एक नयी डिश बनाने की कोशिश की।

अंडे को अच्छी तरह से उबाल लीजिये, यानी हार्ड बाव्यल कर लीजिये। अब इसको लम्बाई में काट कर दो बराबर के टुकड़े कर लीजिये। अन्दर के पीले भाग (ज़र्दी) को निकाल दीजिये।

फ्राई पैन में तेल गरम कीजिये। कटे प्याज, टमाटर को भून लीजिये। स्वादानुसार नमक, मिर्च डाल लीजिये। जब टमाटर आधे गल जाएं तब पीले भाग को भी इसमें डाल कर अच्छी तरह से मिलाइए। ज़रुरत पड़े तो थोडा सा पानी भी डाल लीजिये। ध्यान रहे कि ज़र्दी अच्छी तरह से मिश्रण में घुल जानी चाहिए। इसको तब तक चलाइये जब तक पानी सूख ना जाए।

अब अंडों के आधे कटे हुए सफ़ेद हिस्से को ज़रा सावधानी के साथ और खोखला कीजिये। ध्यान रखिये कि आप अंडे की सतह में छेद ना कर दें। अब मिश्रण को इस खोखले भाग में भर दीजिये।

बस आपका स्टार्टर तैयार है। अंडे पर ज़रा सा नमक-काली मिर्च छिड़क कर चटनी/सॉस के साथ सर्व कीजिये!

7 comments:

रचना said...

WINTERS MAE YAE SAB BAHUT MAZAA DETA HAEN

Harman said...

bahut badiya..


mere blog par bhi kabhi aaiye waqt nikal kar..
Lyrics Mantra

ZEAL said...

mouth watering !
yummy !

Mrs. Asha Joglekar said...

अरे बडी नई सी स्टार्टर है ये तो ।

हल्ला बोल said...

ब्लॉग जगत में पहली बार एक ऐसा सामुदायिक ब्लॉग जो भारत के स्वाभिमान और हिन्दू स्वाभिमान को संकल्पित है, जो देशभक्त मुसलमानों का सम्मान करता है, पर बाबर और लादेन द्वारा रचित इस्लाम की हिंसा का खुलकर विरोध करता है. साथ ही धर्मनिरपेक्षता के नाम पर कायरता दिखाने वाले हिन्दुओ का भी विरोध करता है.

समय मिले तो इस ब्लॉग को देखकर अपने विचार अवश्य दे
.
जानिए क्या है धर्मनिरपेक्षता
हल्ला बोल के नियम व् शर्तें

Ila's world, in and out said...

Easy and mouth watering !!!!

Padma Srivastava said...

V ESSAY.