दाल रोटी चावल सदियों से नारी ने इसे पका पका कर राज्य किया हैं , दिलो पर , घरो पर। आज नारी बहुत आगे जा रही हैं सब विधाओं मे पर इसका मतलब ये नहीं हैं कि वो अपना राज पाट त्याग कर कुछ हासिल करना चाहती हैं। रसोई की मिलकियत पर से हम अपना हक़ तो नहीं छोडेगे पर इस राज पाट का कुछ हिस्सा पुरुषो ने होटल और कुछ घरो मे भी ले लिया हैं।

हम जहाँ जहाँ ये वहाँ वहाँ

Sunday, June 21, 2009

एक बहुत उपयोगी टिप

अगर आप को तरी वाली सब्जी का रंग एक दम लाल चाहिये और आप तीखा कम खाते हैं तो मसाले मे हल्दी के साथ एक चुटकी भर खाने वाला सोडा मिला ले । अब जब आप मसाला भुनेगे तो एक दम लाल होगा और तरी भी लाल बनेगी ।

10 comments:

mehek said...

aare waah ye to bahut aasan aur bahut hi upayogi tip hai,shukran.

Anonymous said...

काम की टिप है...

Nirmla Kapila said...

bahut badiyaa tip hai aabhaar

M Verma said...

टिप तो अच्छा है पर इसे आजमाने के लिये तो सब्जी बनाना सीखना पडेगा... वो भी बता दीजिए.

‘नज़र’ said...

आपको पिता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ...

---

चाँद, बादल और शाम | गुलाबी कोंपलें

Udan Tashtari said...

काम की बात!! जय हो आपकी.

नितिन व्यास said...

और तीखा खाते हों तो?

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

बढ़िया टिप।
बधाई।

शरद कोकास said...

मुझे खाना पकाने का शौक है कल ही इसे आजमा कर देखता हूँ

Anonymous said...
This comment has been removed by a blog administrator.