दाल रोटी चावल सदियों से नारी ने इसे पका पका कर राज्य किया हैं , दिलो पर , घरो पर। आज नारी बहुत आगे जा रही हैं सब विधाओं मे पर इसका मतलब ये नहीं हैं कि वो अपना राज पाट त्याग कर कुछ हासिल करना चाहती हैं। रसोई की मिलकियत पर से हम अपना हक़ तो नहीं छोडेगे पर इस राज पाट का कुछ हिस्सा पुरुषो ने होटल और कुछ घरो मे भी ले लिया हैं।

हम जहाँ जहाँ ये वहाँ वहाँ

Saturday, May 10, 2008

रंग बिरंगी मिर्च और दुनिया की सबसे तीखी मीर्च !

मिर्ची हरी हो या लाल , हमें पता है उसका गुन ..किसी भी बानगी में उसकी अहमियत रसोई पकानेवाला जानता ही है , खानेवाला भी खूब पहचानता है !


विश्व में मिर्चों के कई प्रकार होते हैं। पहले हरी मिर्च ही पेड़ पे दीख्लाई देती है और धूप में वही धीरे धीरे लाल हो जाती है । हां , साग सब्जी , तरकारी बेचनेवाले अकसर इसे मसाले के तौर पर , हरे धनिया , अदरख , नीम्बू , लहसुन , पुदीना वगैरह के साथ बेचते हैं।


हरी मिर्च का एक प्रकार है सिमला मीर्च या केप्सीकम जो अब तो कई विविध रंगों में पाई जाती है। लाल, पीला, केसरी, बैंगनी और हरा रंग मुख्यत: पाये जाते हैं ।


ऐसे ही रंगों को यहां एक दिन मैं ले आयी और मेरे अमरीकन दामाद और समधी हमारे घर पहली बार भोजन पर आ रहे थे उनके लिए ये डिश, यूँ ही, अपने आप बनायी जिस को बहुत पसंद किया गया और सराहा गया ।


तो सामग्री नोट करें : रंग बिरंगी मिर्च


सिमला मिर्च : (यथासंभव) हरी, लाल, पीली, केसरीबैंगनी रंगों की --


अगर ये सारे रंग आप को ना मिलें तो भी सिर्फ हरी सिमला मिर्च का उपयोग करके भी आप इसे बना पायेंगें हां , वो इतनी ज्यादह रंगीन डिश , शायद ना लगे -- सभी सिमला मिर्चों को ठीक बीच में काट लें , सीड्स और रेशों को निकाल कर , भीतर के हिस्सों को साफ कर लें -


अन्य सामग्री : उबले आलू, मेश किए हुए, ( २ या ३ ) , पोहे , उबले चावल, मक्के के दाने, हरा धनिया, गाजर के हलवे के लिए जैसी आप छीनते हैँ वैसी , गाजर , तैयार रखें , नमक , हरी मिर्च पीसी हुई, २ नीम्बू के रस , गरम मसाला , जीरे धनिये का पाउडर।


विधि : हरी सिमला मिर्च के दो भाग किये टुकडोँ में, पोहे में सारे मसाले मिलाकर भर दीजिये


लाल सिमला मिर्च में, मक्के के दानों में सारे मसाले मिलाकर भरिये


केसरी सिमला मिर्च में, चावल के साथ सारे मसाले मिलाकर भरिये


बैंगनी सिमला मिर्च में उबले आलू मसाले मिलाकर भर दीजिये ।


अब एक बड़ी सी बेकिंग डिश में, नीचे ओलीव आयल या अन्य तेल लगा कर , सारे भरे हुए मिर्चों केBb को सजा लें , ऊपर


थोडा सी चीज़ ग्रेट कर के लगा लें , और २० मिनिट तक अवन में, बेक कीजिये। गरमा गरम परोसें ..और आनंद लीजिये।


अब सुनिए - भारत के आसाम प्रांत की एक मिर्च है जिसका नाम है , "


भूत जोलोकीया " वही दुनिया की सबसे तीखी मीर्च है !


ये बात पता


लगाई है न्यू मेक्सिको स्टेट यूनिवर्सिटी ने !


इसे गीनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रेकोर्ड में दर्ज किया गया है। भूत जोलोकिया ने " रेड सावीना " नामक मेर्च की नस्ल को मात दी है और पहले नंबर पर अपनी जगह बना ली है । मीर्च कितनी, तीखी और तेज है उसका टेस्ट


" स्कोवील हीट युनिट " या (SHUs), से की जाती है जिसमें " भूत जोलोकिया " १ लाख " स्कोवील हीट युनिट " या (SHUs), " स्कोवील हीट युनिट " या (SHUs), तक पहुँच गयी जो " रेड सावीना " की , ५ ७ ७ ,000se तीव्रता से दुगुनी क्षमता रखती है


डॉ पाल बोस्लंद , डायरेक्टर हैं " चिल्ली पेप्पर इन्स्टीस्टुट न्यू मेक्सिको स्टेट यूनिवर्सिटी " के डिपार्टमेन्ट ऑफ़ प्लांट एवं एन्वाय्रोमेन्टल साइँस के जिन्होंने २००१ में " भूत जोलोकीया " के दाने अपनी भारत यात्रा के दौरान हासिल किए । "भूत जोलोकीया का अंग्रेज़ी नाम है - घोस्ट चिल्ली ! तीन साल अपनी अनुसंधान और परीक्षण के बाद उन्हें इसके बीज पर्याप्त मात्रा में मिले जिसके तहत ये खोज सामने आ पायी --



14 comments:

anitakumar said...

मैम बहुत ही बड़िया रेसिपी है मुझे पक्का यकींन है कि संजीव कपूर इसे यहां से चुराएगा…:)

mahendra mishra said...

वाह खूब रही आप तो मिर्ची विशेषज्ञ जान पड़ती है सरे प्रकार बता दिए सो हम आभारी है

रंजू ranju said...

पढ़ते ही मिर्ची लग रही है :) पर जानकारी और विधि बहुत ही अच्छी है ...इतनी सारी मिर्च भी होती है आज ही पता चला :)

राज भाटिय़ा said...

बहुत खुब, धन्यवाद इस जान कारी के लिये, ओर आज ही हमारी प्रधान मन्त्री जी यह बना कर हम सब को खिलायेगी,
कुछ समय पहले हम होलेंड गये थे, वहा सुरी नामी लोग बहुत हे, जिन मे बहुत से भारत मूल (बिहार ) से हे, जो सो, डेड सो साल पहले सुरीनाम टापु पर गये थे, एक मिर्च उन के पास थी जो शिमला मिर्च से काफ़ी छोटी थी, लेकिन तेज इतनी की अगर अगर उसे कची कॊ सिर्फ़ जीभ पर ही लगा लो तो दो दिन तक सी सी बन्द नही होती थी, हमने काफ़ी ले ली लेकिन उस आदमी ने हमे हिन्दी मे कहा की इसे कच्ची कभी मत खाना ओर सब्जी मे भी बहुत कम डालना, क्या यह वहई मिर्च तो नही.

anitakumar said...

राज जी देख कर बहुत अच्छा लग रहा है कि आप किचन में काफ़ी दिलचस्पी लेते हैं आशा करते हैं कि जब प्रधानमंत्री जी इसे बनायेगीं तो आप उन्हें मिर्ची काट कर देगें। वो कहते हैं न जो साथ साथ बनाएं साथ साथ खाएं उन्हें साथ साथ में सी सी करने का मजा नसीब होता है तो पूरा लुत्फ़ उठाने के लिए उठाइए चाकू और हो जाइए शुरु हम भी आ रहे हैं खाने पर्…:)

Ila said...

मिर्ची स्पेशल एपिसोड बहुत पसंद आया.मुझे लगता है दाल रोटी चावल से जुडे सभी लोगों को हाजमे का दुरस्त प्रबंध करना पडेगा.

Lavanyam - Antarman said...

आप सभी ने इस प्रविष्टी को पढा और अपनी बातेँ शेर कीँ उसके लिये, आप सभी का शुक्रिया ! :-)
-- लावण्या

mehek said...

wah ye to bahut badhiya hai,receipe aur jankari bhi.

Mrs. Asha Joglekar said...

हरी मिर्ची देखो जी तीखी लगती, लेकिन ये रंगबिरंगी मिर्ची तो काफी मजेदार है ।

Lavanyam - Antarman said...

महेक जी व आशा जी,
आपको मिर्च पर लिखा पसँद आया,
तो, आपका भी आभार !
-- लावण्या

सुनीता शानू said...

मिर्च मुझे बेहद पसंद है,बहुत-बहुत शुक्रिया लाजवाब रेसिपी बताने के लिये...

Lavanyam - Antarman said...

Thanx Sunita ji -- I'm sure you'll enjoy when you make your Fav. Mirchi recipe .
Rgds,
L

mamta said...

लावण्या जी जी पहले तो धन्यवाद आपको रेसिपी बताने के लिए।
आपकी बताई हुई बाजरे की रोटी और खस -खस की सब्जी बनाई थी बहुत अच्छी बनी थी।

और अब बात आज की रेसिपी की । हमे मिर्च बहुत पसंद है पर इतनी तरह से मिर्च बनाई जा सकती है ये नही मालूम था। बहुत ही झन्नाटेदार रेसिपी है।
:)

Lavanyam - Antarman said...

ममता जी ,
मुझे खुशी है कि,
आपने खस खस की सब्ज़ी बनायी !
और पसँद भी आयी ,
ये भी बढिया ! :-)
सिमला मिर्च तो बिलकुल फीकी होतीँ हैँ -
इसे भी आजमाइयेगा ~`
स्नेह
-- लावण्या