दाल रोटी चावल सदियों से नारी ने इसे पका पका कर राज्य किया हैं , दिलो पर , घरो पर। आज नारी बहुत आगे जा रही हैं सब विधाओं मे पर इसका मतलब ये नहीं हैं कि वो अपना राज पाट त्याग कर कुछ हासिल करना चाहती हैं। रसोई की मिलकियत पर से हम अपना हक़ तो नहीं छोडेगे पर इस राज पाट का कुछ हिस्सा पुरुषो ने होटल और कुछ घरो मे भी ले लिया हैं।

हम जहाँ जहाँ ये वहाँ वहाँ

Wednesday, May 21, 2008

शाही भरवां टिण्डे

गर्मियों का मौसम है, आज कल सब्ज़ियों के नाम पर लौकी,टिण्डा,भिन्डी आदि खूब मिलती हैं.कई घरों में लौकी और टिण्डे के नाम पर परिवार वाले नाक-भौं सिकोडने लगते हैं. आइये आज हम टिण्डे को थोडा शाही मिज़ाज़ दें और परिवार वाले हमसे डिमाण्ड करके ऐसे टिण्डे मांगें.पेशे-खिदमत हैं शाही भरवां टिण्डे.इसे बनाने के लिये सामान आपको घर में ही मिल जाएगा नहीं तो दुकानदार को ओब्लाइज करने में क्या जाता है?

आइये सामान जुटायें :

टिण्डे----------------------- १/२ किलोग्राम (छोटे आकार के)
रतलामी सेव (लौन्ग वाले सेव)---- १ मुट्ठी
मलाई---------------------- १ बडी कडछी
पनीर----------------------- ५० ग्राम
नमक---------------------- स्वादानुसार
लाल मिर्च पाउडर--------------- १ छोटा चम्मच
हल्दी------------------------ १/२ छोटा चम्मच
धनिया पाउडर------------------ १.१/२ छोटा चम्मच
गरम मसाला------------------- २ चुटकी
दही------------------------- १/२ कटोरी
हरा धनिया-------------------- २ चम्मच(बारीक कटा हुआ)
कद्दूकस किया हुआ पनीर----------- २ चम्मच (सजाने के लिये)
रिफ़ाइन्ड तेल------------------ १ बडी कडछी
बडी इलायची------------------- १ या २ नग
ज़ीरा------------------------- १ छोटा चम्मच
कसूरी मेथी--------------------- १ छोटा चम्मच

बनाने की विधि

नर्म, छोटे टिण्डों को छील कर,उपर से थोडा सा काट कर ढक्कन निकाल दें.अब अन्दर का गूदा निकाल कर टिन्डों को खोखला कर लें किन्तु इतना भी नहीं कि अन्दर कुछ भी ना बचे.इन टिण्डों को अलग से हलके नमक के पानी में डु्बो दें.
अब अन्दर भरने के मसाले की तैय्यारी कर लें .भरावन के लिये रतलामी सेव को महीन पीस लें.इस पिसे हुए नमकीन में, पनीर मसल लें,थोडा सा हरा धनिया भी इसमें मिला लें.अब टिण्डों को पानी से निकाल कर अच्छी तरह से पौंछ लें.खोखले टिण्डों में ये मसाला अच्छी तरह से भर दें.चलिये ग्रेवी तैय्यार करते हैं, इसके लिये दही को एक गहरी कटोरी में अच्छी तरह से फ़ेंट लें और उसमे नमक, मिर्च, हल्दी, धनिया सब मसाले मिला लें.एक नौन-स्टिक पैन में तेल गर्म करें, उसमें ज़ीरा और बडी इलायची (पिसी हुई) चटकायें.इस तेल में मसाले मिला दही डाल कर मन्दी आंच पर भूनें.जब मसाला पक जाये तो फ़ेंटी हुई मलाई डाल कर हलके हाथ से मिलायें.जब ये मसाला तेल छोडने लगे तो कसूरी मेथी भी डाल दें.इस मसाले में भरे हुए टिण्डे इस प्रकार रखें कि मसाला बाहर ना आने पाये.धीरे से उलट-पलट कर मसाला टिण्डों के चारों ओर लपेट दें और ढंक दें. मन्दी आंच पर पकायें.बीच बीच में देखती रहें कि मसाला तली से चिपक तो नहीं रहा.यदि ऐसा होने लगे तो दूध या पानी के छींटे मार दें.जब ये टिन्डे पक जायें तो इन्हें सर्विन्ग बोल में निकाल लें और कद्दुकस किये हुए पनीर, हरे धनिये और गरम मसाले से गार्निश करें.अब इन शाही टिण्डों को चाहे नरम गरम रोटी के साथ खायें या गरमागरम खस्ता पूडिय़ों के साथ .पसंद आपकी है.

7 comments:

रचना said...

kya baat haen ,isey jarur banaugii

रंजू ranju said...

वाह इला यह तो बहुत मजेदार से लग रहे हैं ..आशा है की घर वाले इसको देख के मुहं नही बनायेंगे :)

Udan Tashtari said...

वाह वाह!! मेरी पसंद. कल ही बनाऊँगा. अभी से भूख लग आई. :)

mehek said...

wah sahi shahi rreceipi hai,shukrana ilaji,humne note kar liya,aaj raat yahi banegi ghar mein,varna dodka aur lauki khake bore ho gaye thay.

Shashi Bhushan said...

madam chiken ko banane ka koi simple dish batayiye. main aakle rahata hoon aur khud hein khana banata hoon. mujhe chiken banana bahut pasand hai. to mujhe aap esi recipy batayiye jismein jada saman jutane ki jhanjhat na karna pare.

shashi

Ila said...

शशिजी,क्यूंकि मैं शुद्ध शाकाहारी हूं इस मामले में आपकी कोई मदद नही कर पाऊंगी.फिर भी इस ब्लोग पर मेरी सहेलियां आपको चिकन बनाने की आसान रेसिपि ज़रूर ज़रूर बताएंगी.Are u listening friends?

Anonymous said...

Great recipe didi :-) ...am already tempted. Par main nahi banaungi ...aap ke haath ka banaya hi khana hai ...nahi toh kya maza? ;-)
You know who :)