दाल रोटी चावल सदियों से नारी ने इसे पका पका कर राज्य किया हैं , दिलो पर , घरो पर। आज नारी बहुत आगे जा रही हैं सब विधाओं मे पर इसका मतलब ये नहीं हैं कि वो अपना राज पाट त्याग कर कुछ हासिल करना चाहती हैं। रसोई की मिलकियत पर से हम अपना हक़ तो नहीं छोडेगे पर इस राज पाट का कुछ हिस्सा पुरुषो ने होटल और कुछ घरो मे भी ले लिया हैं।

हम जहाँ जहाँ ये वहाँ वहाँ

Thursday, November 20, 2008

पकौड़े कटहल के नए स्वाद में!

सर्दी की शाम हो और चाय के साथ गरम गरम पकौड़े हो जाए, मजा आ जाता है न। तो चलिए आज की शाम कुछ नए स्वाद में पकौड़े तलने की तैयारी कर लेते हैं फिर देखते हैं की किसको पसंद आते हैं और किसको नहीं।

सामग्री:

कटहल
चौरेठा
गरम मसाला
नमक
मिर्च
खटाई
हरी धनियाँ की पत्ती
तलने के लिए तेल।
विधि:
कटहल के बीच के आकार में टुकड़े करके उबाल लें ।
अब चौरेठा में नमक अपने स्वाद के अनुसार, बाकि सभी मसाले मिलकर पकौड़े के लिए घोल तैयार कर ले।
कढाई चढा कर उसमें तेल डालकर पर्याप्त गरम करे और फिर कटहल के टुकड़े घोल में डुबो कर भूरे भूरे तलकर निकाल लें ।
फिर उसको चटनी या केचप के साथ चटखारे लेकर खाएं और फिर हमें बताएं की कैसे लगी हमारी रेसिपी।

5 comments:

रंजना [रंजू भाटिया] said...

चौरेठा क्या होता है ? विधि अच्छी है ...नई है

सतीश पंचम said...

मैं भी नहीं समझा कि ये चौरेठा क्या है। वैसे बनाने में लगने वाली सामग्री को देख लगता है चटखारेदार ही होंगे कटहल के पकौडे।

makrand said...

let me tell to my wife
must be good enough
regards

रचना said...

चौरेठा hamey pataa haen , rekha bhi jaantee haen
jo bhi jaanta ho wo bataaye warna kal nayee post mae padhey !!!!!!!!!

Keshav Dayal said...

I admire the way you present the ideas. Many many thanks to you for adding a new tasty dish to my kitchen.