दाल रोटी चावल सदियों से नारी ने इसे पका पका कर राज्य किया हैं , दिलो पर , घरो पर। आज नारी बहुत आगे जा रही हैं सब विधाओं मे पर इसका मतलब ये नहीं हैं कि वो अपना राज पाट त्याग कर कुछ हासिल करना चाहती हैं। रसोई की मिलकियत पर से हम अपना हक़ तो नहीं छोडेगे पर इस राज पाट का कुछ हिस्सा पुरुषो ने होटल और कुछ घरो मे भी ले लिया हैं।

हम जहाँ जहाँ ये वहाँ वहाँ

Tuesday, May 27, 2008

सिज्जलर विधि और सामग्री

वेजिटेबल सिज्जलर काली मिर्च सॉस के साथ

सिज्जलिंग सिज्जलर्स

आप ने ना बनाया हो तो विधि फिर देखे और बनाये । स्वादिष्ट हैं । लिंक क्लिक करे अनिता ने विधि और सामग्री बहुत आसान बताई हैं ।

2 comments:

Udan Tashtari said...

वाह जी, अभी जाते हैं वहाँ. आभार लिन्क का.

रंजू ranju said...

यह घर भी बना सकते हैं यह अभी पढ़ कर जाना :) नही तो अब तक इसको रेस्टोरेंट में ही जा कर खाया है :)